Followers

Friday, 19 August 2011

शिव महापुराण -6

शिव महापुराण -६




Shiva Wallpaper

कथा पूर्ण होने पर संत चरणों में गिरी ;
मुक्ति का उपाय उनसे पूछने वो  लगी ,
संत बोले ''शिव पुराण'' श्रवण ही उपाय है ;
पुण्य उदित होते हैं और पाप ये घटाए है .

Shiva Wallpaper

इसकी कथा के श्रवण से तुम पूर्ण मुक्ति पाओगी ;
राग-क्लेश मुक्त हो शांत-चित्त  हो जाओगी ,
साक्षात्-शिव ह्रदय में हैं अनुभव तुम्हे होगा यही ;
शिव मयी है ये जगत,शिव-शिव हैं हर कहीं .


Shiva Wallpaper

शिव पुराण स्वयं में शिव की दिव्य शक्ति है ;
गणेश-कार्तिकेय की मिलती इससे भक्ति है ,
चंचुला बोली प्रभु-इसकी कथा सुनाइए
मैं बड़ी हूँ पापिनी पाप से बचाइए .



Shiva Wallpaper

संत के निर्देश पर स्नान करके शुद्ध हुई ;
जटावल्कल   धारण कर कथा सुनी अमृतमयी ,
शिव की भक्ति में वो ऐसे लीन थी होती गयी
कथा श्रवण करते करते देह मुक्त वो भई .
Shiva Wallpaper

देह मुक्ति के अनन्तर शिव पुरी को वो गयी ,
गौरी शंकर के हुए दर्शन उसे महिमामयी ,
भक्त वत्सल शिव की लीला  होती सभी महान हैं ;
गौरी शंकर के ह्रदय में भक्त का स्थान है .


Shiva Wallpaper

माता गौरी ने उसे वरदान ये था दे दिया
'तुम रहो समीप मेरे 'मीठे वचनों में कहा ,
चंचुला को एक दिन पति-गति का पता चला ,
यातनाएं भोगता   पिशाच  yoni   में पडा  . 

Shiva Wallpaper

चंचुला ने माता से प्रार्थना फिर ये करी
मुक्ति दो मेरे पति को 'मात हे ममतामयी '
तुम्बरू  गन्धर्व को आदेश माता ने दिया
शिव पुराण की कथा विन्दुग को तुम दो सुना !



Shiva Wallpaper

तुम्बरू विन्ध्याचल पर सुनाने लगे अमृत कथा
विन्दुग के संग-संग श्रोता समूह भी आ जुटा,
कथा  श्रवण मात्र से विन्दुग का पाप कट गया ;
शिव ने उसे गणसमूह में गण का पद भी दे दिया .

Shiva Wallpaper

                 शिखा कौशिक

3 comments:

अनुपमा त्रिपाठी... said...

कल-शनिवार 20 अगस्त 2011 को आपकी किसी पोस्ट की चर्चा नयी-पुरानी हलचल पर है |कृपया अवश्य पधारें.आभार.

शालिनी कौशिक said...

sundar aadhyatmik prastuti.badhai

smshindi By Sonu said...

सुंदर भावाभिव्यक्ति। बहुत अच्छी प्रस्तुति। हार्दिक शुभकामनाएं